भूले बिसरे

गाजियाबाद आने के आरम्भिक दिनों 1992 के आस पास मुम्बई से श्री विद्धि सेठ कानपूर से श्री रामचंदर यादव के साथ घर पर   

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में वहीँ मुलाकात हुयी श्री धर्म सिंह यादव से 

आदरणीय बहन जी श्रीमती उर्मिला श्रीवास्तव जी के साथ 

आगरा कला केंद्र में कार्यशाला के मध्य  कुछ पुरातन विद्यार्थियों तथा श्री प्रणाम सिंह (बी एच यु ) के साथ 

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में वहीँ मुलाकात हुयी श्री मुरली लाहोटी से

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में आराम के क्षण 

1991 के बम्बई कला मेले में आ गुरुवर डॉ मकबूल के साथ बम्बई में


चित्रकला विभाग में एम् ए के विद्यार्थियों की विदाई पर 

चित्रकला विभाग में एम् ए के विद्यार्थियों की टीम लैंड स्केप के लिए मसूरी झील पर (मेरा पहला वर्ष एम एम एच कालेज में )

अमेठी में बड़े बाबू श्री मनोहर लाल वर्मा के सेवा निवृति पर 

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री विश्वनाथ प्रताप सिंह जी को अपना कैटलॉग देते हुए 

कोई टिप्पणी नहीं: